संयुक्त उद्यम परियोजनाएं

Plants/ Joint Venture Plants:

Plants of NEEPCO in various stages of development in joint venture basis are as follows:

आखिरी अपडेट: 04/08/2020

भविष्य की परियोजनाएं

जल

क्रम सं परियोजना का नाम राज्य विवरण स्थिति
1 डिब्बिन जल विद्युत परियोजना (120 मेगावाट) अरुणाचल प्रदेश
  • नीपको और केएसके एनर्जी वेंचर्स लिमिटेड के बीच 2014 में संयुक्त उद्यम का गठन किया गया । 
  • बेसिन अध्ययन रिपोर्ट के तहत पर्यावरणीय प्रवाह के संबंध में टीईसी के मापदंडों पर टीईसी ने कुछ संशोधनों के साथ संशतुति प्रदान की है।  
  • सीईए के सुझाव अनुसार साइट-विशिष्ट ई-प्रवाह अध्ययन किया गया, जो एमओईएफ और सीसी के अनुमोदनाधीन परियोजना मापदंडों के पुनर्मूल्यांकन के लिए मान्य होगा।
4 वर्ष (कमीशनिंग समय-सीमा --निवेश स्वीकृति से अनुमानित)
2 सियांग अपर स्टेज- II जल विद्युत परियोजना (3750 मेगावाट) अरुणाचल प्रदेश
  • नीपको,एनएचपीसी  और राज्य सरकार के बीच संयुक्त उद्यम में इस परियोजना के कार्यान्वयन के लिए राज्य सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे।  
  • पीएफआर तैयार किया गया और डीपीआर तैयार के लिए कार्य आरंभ किया गया ।
  • डीपीआर और ईआईए / ईएमपी पर काम वर्तमान में सरकार के निर्देशों के अनुसार तब तक रोक कर रखा गया है जब तक कि एकल चरण या दो चरणों में सियांग अपर स्टेज-। और स्टेज-॥ के कार्यान्वयन पर कोई निर्णय प्राप्त नहीं हो जाता।
  • वर्तमान में, मामला एमओपी की सक्रिय जाँच के अधीन है।  
8 वर्ष(कमीशनिंग समय-सीमा --निवेश स्वीकृति से अनुमानित)
3 कुरूंग जल-विद्युत परियोजना (330 मेगावाट) अरुणाचल प्रदेश
  • राज्य सरकार के साथ संयुक्त उद्यम में विकसित करने के लिए अरुणाचल प्रदेश सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।
  • नीपको द्वारा पीएफआर तैयार किया गया।
  • एमओपी से निवेश-पूर्व अनुमोदन को आगे एमओए के पुनरीक्षण पर संसाधित किया जाएगा।
6.5 वर्ष (कमीशनिंग समय-सीमा --निवेश स्वीकृति से अनुमानित)