संयुक्त उद्यम परियोजनाएं

परियोजनाएं/संयुक्त उद्यम परियोजनाएं:

संयुक्त उद्यम के रूप में विकास के विभिन्न चरणों में नीपको की परियोजनाएं निम्नवत है:

आखिरी अपडेट: 12/04/2018

भविष्य की परियोजनाएं

जल

क्रम सं परियोजना का नाम राज्य विवरण स्थिति
1 डिब्बिन जल विद्युत परियोजना (120 मेगावाट) अरुणाचल प्रदेश
  • इस परियोजना के विकास के लिए नीपको और केएसके एनर्जी वेंचर्स लिमिटेड के बीच दिनांक 12.06.2014 को संयुक्त उद्यम कंपनी गठित की गई ।
  • वर्ष 2009 में टीईसी प्राप्त हुई ।
  • पर्यावरण मंजूरी एवं वन मंजूरी, चरण-I प्राप्त कर ली गई है ।
  • एमओईएफ़ एंड सीसी को आवश्यक शुल्क का भुगतान किया गया तथा राज्य सरकार के समक्ष वन मंजूरी, चरण –II के लिए आवेदन पत्र प्रस्तुत किया गया है जो कि प्रक्रियाधीन है ।
  • बिचौम वेसिन अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार पर्यावरणीय प्रवाह की शर्तों में यह परियोजना वाणिज्यिक रूप से अव्यवहारिक है।
  • डोनर के अनुदान के माध्यम से इस परियोजना को व्यवहारिक बनाने के लिए एमओपी/नीपको द्वारा प्रयास किए जा रहे है।
  • नीपको ने पत्र दिनांकित 14.02.2018 तथा 28.03.2018 के माध्यम से अरूणाचल प्रदेश सरकार को सूचित किया कि डोनर से अनुदान प्राप्त कर इस परियोजना को व्यवहारिक बनाया जाएगा तथा राज्य सरकार ने इस परियोजना को नीपको को आवंटित करने का अनुरोध किया है। 
4 years
2 सियांग अपर स्टेज- II जल विद्युत परियोजना (3750 मेगावाट) अरुणाचल प्रदेश
  • इस परियोजना को नीपको, एनएचपीसी एवं राज्य सरकार के बीच संयुक्त उद्यम के रूप में कार्यान्वित करने के लिए दिनांक 28.05.2013 को राज्य सरकार के साथ समझोता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया ।
  • एनटीपीसी द्वारा तैयार की गई पीएफ़आर में पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, भारत सरकार के अनुसार वांछित संशोधन किया गया है।
  • सियांग स्टेज – I व II दोनों जल-विद्युत परियोजनाओं के लिए एकल संयुक्त उद्यम कंपनी गठित की जाएगी।
  • नीपको और एनएचपीसी के बीच द्विपक्षीय समझौता ज्ञापन का मसौदा अंतिम चरण में है।
  • नीपको, एनएचपीसी और राज्य सरकार के बीच त्रिपक्षीय एमओए मसौदा अंतिम चरण में है।
  • विद्युत मंत्रालय से प्राप्त सूचना के अनुसार सियांग अपर स्टेज-I एवं स्टेज- II जल विद्युत परियोजनाओं को दो अथवा एक चरण में विकसित करने पर अंतिम निर्णय लिए जाने तक डीपीआर तैयार करने एवं ईआईए/ईएमपी अध्ययन कार्य को स्थगित रखा गया है ।
  • नीपको ने पत्र दिनांकित 09.02.2018 के माध्यम एमओपी को अपनी टिप्पणियाँ प्रस्तुत कर दी है इस संबंध में निर्णय प्रतिक्षित है।
8 वर्ष
3 कुरूंग जल-विद्युत परियोजना (330 मेगावाट) अरुणाचल प्रदेश
  • डीपीआर तैयार करने एवं राज्य सरकार के साथ मिलकर संयुक्त उद्यम के रूप में इसे कार्यान्वित करने हेतु दिनांक 27.01.2015 को अरुणाचल प्रदेश सरकार के साथ एमओए पर हस्ताक्षर किया गया ।
  • परियोजना के पुनर्निर्माण के लिए फिर से पीएफआर तैयार किया गया। .
  • डीपीआर तैयार करने का कार्य प्रगति में है
  • निवेश-पूर्व गतिविधियाँ जिसमें डीपीआर तैयार करना भी शामिल है, पर अनुमोदन देने का कार्य एमओपी के पास जाँच के तहत है। 
  • एमओपी के सलाहअनुसार नीपको और अरूणाचल प्रदेश सरकार के बीच एमओए के कुछ अनुच्छेदों का संशोधन करने कार्य प्रक्रियाधीन है।
6.5 वर्ष