प्रॉजेक्ट्स तो बे टेकन उप

आखिरी अपडेट: 28/05/2018

स्वामित्व के आधार पर नीपको की भावी परियोजनाए निम्नवत हैं: 

जल

क्रम सं परियोजना का नाम राज्य स्थिति संपूरित होने की समय सीमा (निवेश की मंजूरी से अनुमानित)
1 वाह उमियम जल विद्युत परियोजना चरण-III (85 मेगावाट) मेघालय
  • सीईए को जुलाई 2017 में 85 मेगावाट अधिष्ठापित क्षमता के लिए डीपीआर पर टीईसी स्वीकृति प्राप्त करने हेतु प्रस्तुत किया गया।
  • व्यापक पर्यावरण अध्ययन पूरा कर लिया गया है तथा एमओईएफ एण्ड सीसी, भारत सरकार ने अपने पत्र दिनांकित 26 फरवरी, 2018 के माध्यम से सूचित किया कि इस परियोजना के लिए ईएसी ने अपनी संस्तुति दे दी है वशर्ते कि ईसी जारी करने के पहले स्टेज-। वन स्वीकृति की प्रति उपलब्ध कराई जाए। डीएफओ, खासी हिल्स (टी) डिवीजन, मेघालय सरकार को सूचित किया गया कि विभाग, प्रतिपूरक वनीकरण के लिए 44 हेक्टर अवक्रमित वन भूमि उपलब्ध नही करा सकती है तथा नीपको से सीए के लिए इसके बराबर अर्थात 22 हेक्टर अवक्रमित भूमि उपलब्ध करने का अनुरोध किया है जो अभी प्रक्रियाधीन है।
  • दिनांक 05.06.2017 को एमओपी से प्राप्त पूर्व-निवेश गतिविधियों के प्रस्ताव पर स्वीकृति ।
  • स्थानीय लोगों की मांग अनुसार इस परियोजना का नाम पुनः निर्धारित करने के पश्चात निर्माण पूर्व कार्य आरंभ किया जाएगा।  
5 वर्ष
2 तुइवाई जल विद्युत परियोजना (210 मेगावाट) मिज़ोरम
  • परियोजना के निष्पादन के लिए दिनांक 10.02.2015 को नीपको मिजोरम सरकार के साथ एमओए पर हस्ताक्षर किया ।
  • नवीनीकृत लागत और डीपीआर की टैरिफ उच्च पाया गया।
  • फ्रेश हाइड्रोलोजी के साथ वैकल्पिक अध्ययन किया गया जो उच्च परियोजना लागत और टैरिफ को दर्शाता है ।
  • विषयों या मामलों को राज्य सरकार को सूचित किया गया । 6.00 रूपये प्रति यूनिट टैरिफ को लागू करने या शामिल करने हेतु करीब 1800.00 करोड़ रुपये का अनुदान आवश्यक है ।
5 वर्ष

 

ताप

क्रम सं परियोजना का नाम राज्य स्थिति संपूरित होने की समय सीमा (निवेश की मंजूरी से अनुमानित)
1 गारो हिल्स ताप विद्युत परियोजना (500 मेगावाट) मेघालय
  • दिनांक 17.03.2011 को राज्य सरकार के साथ एमओए हस्ताक्षरित ।
  • मेघालय जिले के दारुगिरी, ईस्ट गारो हिल्स के निकट परियोजना स्थल चिन्हित किया गया है ।
  • कोयला लिंकेज की संभावना का पता लगाया जा रहा है ।
3 वर्ष

 

नवीकरणीय

क्रम सं परियोजना का नाम राज्य स्थिति संपूरित होने की समय सीमा (निवेश की मंजूरी से अनुमानित)
1 सौर पीवी परियोजना (200 मेगावाट) ओड़िशा
  • डीपीआर तैयार करने की कार्य प्रगति पर है ।
2 वर्ष